Monday, 11 May 2020

PoK पर भारत की कार्रवाई से पाकिस्तान में छाया खोफ , पाक भाग रहा इधर-उधर





कोरोना वायरस महामारी के संकट के इस दौर में जहां एक ओर भारत पूरी दुनिया की मदद करने में जुटा हुआ है। किसी को दवाई तो किसी को सुरक्षा उपकरण भेजे जा रहे हैं। किसी के यात्री फंसे हैं तो उन्हें निकाला जा रहा है। वहीं, हमारा पड़ोसी देश पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। लगातार सीमापार से सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब भी किसी अंतरराष्ट्रीय मंच पर जाते हैं तो पाकिस्तान की हैसियत जरूर दिखाते हैं। अब जब भारत ने पीओके, गिलगित-बाल्टिस्तान के मौसम की भविष्यवाणी शुरू कर दी है तो पाकिस्तान में उसका खौफ बढ़ गया है।

बाहर फंसे मजदूरों के खातों में पैसे डालने का क्या है प्लान , बिहार सरकार का सुनिए जवाब

सब तरफ़ बहुत खोफ छाया हुआ हे माहवारी का,ओर उधर सरकार ने बहुत बड़ी करवायी कर दी हे

हिंदुस्तान ने हाल ही में पाकिस्तान को पीओके, गिलगिट-बाल्टिस्तान का मौसम बताया। हिंदुस्तान ने पाकिस्तान को बताया कि पीओके (पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर) हमारा तो ही है, वहां मौसम भी हमारा है। पीओके की घर वापसी की ओर पहला कदम बढ़ गया है। कोरोना वायरस काल में भी पाकिस्तान को जवाब देने का पीएम मोदी का मिजाज अब भी वही पुराना है। गुट निरपेक्ष (NAM) देशों के वर्चुअल सम्मेलन में प्रधानमंत्री ने आतंकवाद का जिक्र किया था और पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि कुछ लोग आतंक का जानलेवा वायरस, फर्जी खबरें और फर्जी वीडियो फैलाने में लगे हैं। कोरोना से लड़ने के लिए हिंदुस्तान ने पाकिस्तान को मोहलत दी थी कि वो सोचें-समझें और फिर अपने देश की तरक्की के लिए काम करे। आतंकी चरित्र को बदलें। लेकिन कोरोना काल में पाकिस्तान ने जो गैर इंसानी हरकत की अब उसके बाद उसके हाथ से बहुत कुछ जाएगा। कश्मीर के सपने देखते-देखते वह पीओके के साथ-साथ अब गिलगिट-बाल्टिस्तान पर भी मुंह की खाएगा।

Jio ने पेश किए नए WFH प्लान्स, 151 रुपये में मिलेगा इतना GB डेटा

इरफान खान परिवार के लिए छोड़ गए इतनी संपत्ति, बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक बजाया था डंका

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने फिर दुनिया की दौड़ लगाई है कि कोई तो बचाओ। उन्होंने हाल ही में कहा कि मैं पाकिस्तान को निशाना बनाने वाले भारत के लगातार प्रयासों के बारे में दुनिया को आगाह कर रहा हूं। एलओसी के पार भारत के घुसपैठ के नए आधारहीन आरोप इस खतरनाक एजेंडे की निरंतरता हैं। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भारत के दक्षिण एशिया में शांति और सुरक्षा को खतरे में डालने से पहले कार्य करना चाहिए। कश्मीर पर पिटाई इमरान खान की सीने पर चुभ रही है। अब पीओके, गिलगिट पर भी आ गई है। हंदवाड़ा मुठभेड़ से पहले उन्हें सोचना चाहिए था। अब हिंदुस्तान के गुस्से का सैलाब आएगा, जिसमें पाकिस्तान का तिनके की तरह बह जाना तय है। हिंदुस्तान ने जो कहा था पाकिस्तान की हरकतों के बाद उस पर अमल करना शुरू कर दिया है।

No comments:

Post a comment

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();